Uttarakhand: 15 जून कैंचीधाम मेले की तैयारी में जुटा प्रशासन, मेले पर हल्द्वानी से इन स्थानों से कैंची धाम तक चलेगी शटल सेवा

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी:उत्तराखंड में स्थित प्रसिद्ध कैंचीधाम नीम करौली बाबा के दर्शन करने के लिए रोजाना हजारों श्रद्धालु पहुंचते हैं. 15 जून को कैंची धाम मंदिर की स्थापना का हर साल मेला लगता है जहां भारी संख्या में श्रद्धालु बाबा का दर्शन करने पहुंचते हैं ऐसे में मेले में लाखों लोगों की पहुंचने की उम्मीद है जिसको देखते हुए जिला प्रशासन ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है. बाहर से आने जाने वाले श्रद्धालुओं को किसी तरह का कोई परेशानी ना हो इसको लेकर जिला प्रशासन और परिवहन विभाग के बीच कई दौर की बैठक भी हो चुकी है.


आरटीओ प्रवर्तन नंदकिशोर ने बताया कि पहली बार मेले के मौके पर हल्द्वानी से कैंची धाम तक सीधी सटल सेवा चलाई जाएगी जिससे कि श्रद्धालुओं को किसी तरह की कठिनाई न उठाने पड़े. उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर शटल सेवा लगाए जाने की योजना है जिसके तहत हल्द्वानी के रोडवेज स्टेशन रेलवे स्टेशन के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम से शटल सेवा बस से चलाई जाएंगे.

यह भी पढ़ें 👉  करंट लगने से लाइनमैन की दर्दनाक मौत


योजना के तहत बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के वाहनों को हल्द्वानी में रोक कर उनको सटल सेवा से मंदिर दर्शन के लिए भेजा जाएगा. योजना के तहत कुमाऊं मोटर्स ऑनर्स यूनियन के अलावा अन्य निजी बसों को सटल सेवा के तहत लगाया जाएगा. 15 जून को मेला लगा है जिसको देखते हुए 14 और 15 जून को सटल सेवा का संचालन किया जाएगा.

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:महिला के गले से चेन छीनकर चलती ट्रेन से कूदा चोर, अंधेरे का फायदा उठाकर भागा


इसके अलावा भवाली से कैंची धाम मंदिर तक वाहनों का आना-जाना पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा जहां बाबा का दर्शन करने वाले श्रद्धालु टैक्सी शटल सेवा के अलावा बस सटल सेवा से मंदिर तक आना-जाना कर सकेंगे.

उत्तराखंड का नैनीताल जिले के भवाली स्थित विश्व प्रसिद्ध कैंची धाम मंदिर लोगों का आस्था का केंद्र है पिछले कुछ वर्षों से भारत के विख्यात लोग भी नीम करौली बाबा के दर्शन करने के लिए यहां पहुंच रहे हैं.ये बाबा की शक्ति ही है कि बहुत दूर-दूर से लोग मंदिर में दर्शन के लिए पहुंच रहै हैं.
बाबा का आशीर्वाद के लिए विदेश से भी बड़ी-बड़ी हस्तियां कैंचीधाम पहुंच रही हैं. बाबा के दर्शन करने के लिए भक्त यहां आते तो हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:महिला के गले से चेन छीनकर चलती ट्रेन से कूदा चोर, अंधेरे का फायदा उठाकर भागा


15 जून को हर साल मंदिर की स्थापना दिवस मनाई जाती है जहां उत्तराखंड के साथ-साथ कई राज्यों से बाबा के भक्त पहुंचते हैं हर साल बढ़ती भीड़ को देखते हुए जिला प्रशासन ने व्यवस्था लागू करने जा रहा है.

अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें