पहले पत्नी का कराया 1 करोड़ 90 लाख का बीमा, क्लेम के लिए करवा दी पत्नी और साले की हत्या–ऐसे हुआ खुलासा

ख़बर शेयर करें

पति-पत्नी का सात जन्मों का रिश्ता कहा जाता है लेकिन पैसे के लालच में एक पति ने पत्नी की हत्या की ऐसी खौफनाक साजिश रची की इस घटना को सुनकर हर कोई दंग रह गया ।मामला राजस्थान की राजधानी जयपुर (Jaipur) में एक पति ने बीमा क्लेम की राशि एक करोड़ 90 लाख रुपये लेने के लिए अपनी पत्नी और साले की हत्या करवा दी। हत्या का तरीका ऐसा था कि पहले तो पूरा मामला सड़क दुर्घटना लगा, लेकिन जांच में पुलिस को शक हुआ तो पूरे मामले का खुलासा हुआ।

पुलिस ने पत्नी और साले की हत्या के आरोपी पति महेश चंद्र उर्फ राजु धोबी सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है। शहर के हरमाड़ा थाने का है 5 अक्टूबर को थाना इलाके में स्कूटी सवार भाई-बहन की एक कार की चपेट में आ गए थे। हादसे में महेश की पत्नी शालू की मौके पर मौत हो गई थी, जबकि उसके भाई राजू दस लानिया ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया था। पुलिस ने मामले की जांच शुरू की तो पता चला कि महेश ने हाल ही में शालू का 1.90 करोड़ रुपये का बीमा कराया था।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में फंदे पर लटका मिला प्रेमी की लाश, प्रेमिका समान और मोबाइल समान लेकर फरार

सड़क हादसे में शालू की मौत होने पर उसे यह पैसा मिलेगा। ऐसे में पुलिस को शालू की हत्या का शक हुआ। जांच के बाद बुधवार को पुलिस ने इस मामले का खुलासा किया।

2015 में हुई थी दोनों की शादी

जानकारी के मुताबिक महेशचंद और शालू की शादी 2015 में हुई थी. दोनों की एक बेटी भी है, लेकिन शादी के 2 साल बाद ही उनमें झगड़ा होने लगा. शालू अपने मायके में रहने लगी. पुलिस के मुताबिक शालू ने महेश पर 2019 में घरेलू हिंसा का मामला भी दर्ज कराया था. वहीं महेश ने हाल ही में शालू का बीमा करवाया था।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी निवासी फौजी हिमांशु दफौटी का शव बरामद,गौला में नहाने से डूबने से हुई थी मौत

पुलिस के मुताबिक महेश ने अपनी पत्नी का 40 साल की अवधि के लिए का बीमा करवाया था. बीमा कंपनी के नियमों के मुताबिक बीमा की राशि नेचुरल डेथ पर 1 करोड़ रुपये और दुर्घटना में मौत होने पर 1.90 करोड़ रुपये मिलनी थी. इसके लिए आरोपी महेश चंद ने शालू की हत्या का प्लान बनाया. इसके लिए उसने हिस्ट्रीशीटर मुकेश सिंह राठौर को सुपारी दी थी. पुलिस ने बताया कि मुकेश सिंह राठौर ने इस काम के लिए 10 लाख रुपये की मांग की थी. जबकि आरोपी महेशचंद ने उसे 5.5 लाख रुपये एडवांस के तौर पर दिए थे।

पुलिस के मुताबिक महेश ने शालू से कहा था कि मैंने एक मन्नत मांगी है. इसे पूरा करने के लिए उसे बाईक से लगातार 11 दिन तक बिना किसी को बताए हनुमान मंदिर जाना होगा. उसने यह भी कहा कि एक बार उसकी इच्छा पूरी हो जाने पर वह उसे घर ले आएगा. इस पर वह मोटरसाइकिल से अपने चचेरे भाई के साथ मंदिर जाने लगी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी निवासी फौजी हिमांशु दफौटी का शव बरामद,गौला में नहाने से डूबने से हुई थी मौत

पुलिस ने कहा कि 5 अक्टूबर को जब शालू और राजू मंदिर जा रहे थे. तभी हिस्ट्रीशीटर ने तीन अन्य लोगों के साथ एक एसयूवी में उनका पीछा किया और उनकी बाइक को टक्कर मार दी. इतना ही नहीं आरोपी महेश उनके पीछे-पीछे जा रहा था, वह यह पुख्ता कर लेना चाहता था कि वारदात हुई है या नहीं. पुलिस ने बताया कि जब एसयूवी ने शालू की बाइक को टक्कर मारी तो वह हादसे की पुष्टि करने के बाद मौके से लौट आया. पुलिस ने मुकेश सिंह राठौर उसके दो अन्य साथी के साथ ही एसयूवी के मालिक राकेश सिंह और सोनू को भी गिरफ्तार कर लिया है।

अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें