Uttarakhand:भारत रत्न पं. गोविंद बल्लभ पंत उनके पुत्र के.सी पंत और पुत्रवधू इला पंत के जीवन और देश के विकास में उनके महत्वपूर्ण योगदान को समर्पित एक वेबसाइट का जल्द होगा शुभारंभ

ख़बर शेयर करें

उत्तराखंड: देश के महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और उत्तर प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री भारत रत्न पं. गोविंद बल्लभ पंत उनके पुत्र के.सी पंत और पुत्रवधू इला पंत के जीवन और देश के विकास में उनके महत्वपूर्ण योगदान को समर्पित एक वेबसाइट का जल्द होगा शुभारंभ होने जा रहा है.
यह वेबसाइट एक डिजिटल संग्रह और शैक्षिक संसाधन के रूप में कार्य करेगी जो पंडित गोविंद बल्लभ पंत की संघर्ष और उनके राष्ट्र प्रेम की विस्तृत जानकारी पदान करेंगी। गोविंद बल्लभ पंत की भारत की स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका, उत्तर प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री के रूप में उनके कार्यकाल और भारत के गृह मंत्री के रूप में उनके प्रभावशाली कार्यों और उनके परिवार अदवितीय योगदान के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। इस प्लेटफॉर्म पर भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ पंत के साथ-साथ उनके पुत्र पूर्व केंद्रीय मंत्री के सी पंत, नैनीताल लोकसभा सीट पूर्व सांसद सदस्य इला के राष्ट्र प्रेम और जनता को समर्पित योगदान के बारे में जानकारी हासिल कर सकेंगे.

भारत रत्न पंडित गोविंद बल्लभ पंतः

  • 1930-1945: स्वतंत्रता संग्राम के दौरान पंडित गोविंद बल्लभ पंत को अंग्रेजी में कई बार कैद किया
    1937-1939: प्रधान मंत्री, संयुक्त प्रांत
    1946-1954: प्रथम मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश
    1954-1961: केंद्रीय गृह मंत्री, नेता सदन, राज्य सभा
यह भी पढ़ें 👉  Haldwani News:कार ने स्कूटी में मारी टक्कर ,कैंची धाम ड्यूटी जा रहे दो पुलिसकर्मी गंभीर घायल

पूर्व केंद्रीय मंत्री के.सी. पंतः

1962-1967: संसद सदस्य, नैनीताल
1967-1971: संसद सदस्य, नैनीताल, भारी उद्योग मंत्री, विल मंत्री
1971-1977: संसद सदस्य, नैनीताल, गृह, अंतरिक्ष और प्रौद्‌यौगिकी, ऊर्जा, सिंचाई
और बिजली, इलेक्ट्रॉनिक्स, परमाणु ऊर्जा मंत्री
1978-1984: संसद सदस्य, राज्यसभा. उत्तर प्रदेश
1979-1980: नेता सदन, राज्य सभा
1982-1984: अध्यक्ष, ऊर्जा सलाहकार बोर्ड
1984-1990: शिक्षा मंत्री, इस्पात और खान मंत्री, कोयला मंत्री, रक्षा मंत्री
1992-1995: अध्यक्ष, 10th वित्त आयोग
1998-2004: राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के गठन के लिए टास्क फोर्स के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, योजना आयोग, केंद्रीय मंत्रिमंडल समिति के सुख्ता परिषद के सदस्य, कश्मीर के लिए प्रधान मंत्री के वार्ताकार, प्रधान मंत्री ‌द्वारा आधारभूत संरचना पर गठित कार्यबल के अध्यक्ष भारतीय जनसंख्या आयोग के अध्यक्ष, अध्यक्ष, RIS, भारत-ब्रिटेन राउंड टेबल वार्ता के अध्यक्ष

यह भी पढ़ें 👉  Haldwani News:कार ने स्कूटी में मारी टक्कर ,कैंची धाम ड्यूटी जा रहे दो पुलिसकर्मी गंभीर घायल

पूर्व सांसद सदस्य नैनीताल इल्ला पतः

1998-1999: संसद सदस्य, नैनीताल, संसद में विदेशी मामलों की सलाहकार समिति की सदस्य।

पंडित गोविंद बल्लभ पंत, स्वतंत्रता संग्राम में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति थे और एक दूरदर्शी नेता माने जाते थे, उन्होंने आधुनिक शासन की नींव रखी और संयुक्त प्रांत के प्रधान मंत्री 1937-1939 तक और 1946-1954 तक उत्तर प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री के रूप में भारत के सबसे बड़े और सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए और बाद में 1954-1961 तक केंद्रीय गृह मंत्री के रूप में पूरे भारत के विकास में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा।

उनके पुत्र, के.सी. पंत ने 25 वर्षों से अधिक समय तक कई मंत्रालयों का नेतृत्व करते हुए रक्षा, शिक्षा, इस्पात, बिजली, ऊर्जा, परमाणु ऊर्जा, सिंचाई, योजना, वित्त, राज्यों को वित्त आवंटन, सुरक्षा संबंधी मामर्जा में महत्वपूर्ण सुधार किये। उन्होंने भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की नींव रखने और प्रथम NSA की नियुक्ति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

यह भी पढ़ें 👉  Haldwani News:कार ने स्कूटी में मारी टक्कर ,कैंची धाम ड्यूटी जा रहे दो पुलिसकर्मी गंभीर घायल

इला पंत का राजनीतिक कार्यकाल भी इस परिवार की जनसेवा के प्रति अटूट समर्पण को दर्शाता है, जिसमें उनका अपने कार्यकाल के दौरान प्रभाव महत्वपूर्ण रहा। वह संसद में विदेशी मामलों की सलाहकार समिति की सदस्य भी थी।

पंडित गोविंद बल्लभ पंत का भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन और स्वतंत्रता के बाद की शासन व्यवस्था में योगदान बहुत बड़ा है। एक एकीकृत और प्रगतिशील भारत के लिए उनकी दृष्टि पौड़ियों को प्रेरित करती है। इस वेबसाइट का उद्‌द्देश्य जनता, विशेषकर युवाओं को उनकी स्थायी विरासत और राजनीति, सामाजिक सेवा और शिक्षा जैसे विभिन्न क्षेत्रों में उनके परिवार के कार्यों के निरंतर प्रभाव के बारे में शिक्षित करना है।

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें