हल्द्वानी में महिला के नाबालिक के साथ किया घिनौनी हरकत,पोर्न वीडियो वायरल मुकदमा दर्ज

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी: शहर कोतवाली पुलिस ने एक महिला के खिलाफ एसटीएफ ने चाइल्ड पोर्नोग्राफी का मुकदमा दर्ज किया गया है। पूरे मामले में पुलिस मुकदमा दर्ज कर महिला की तलाश शुरू कर दिया है हल्द्वानी कोतवाली प्रभारी हरेंद्र चौधरी ने बताया कि सोशल मीडिया में एक पुराना पोर्न वीडियो वायरल हो रहा था युक्त वीडियो बनाकर एक महिला द्वारा इंस्टाग्राम में अपलोड करने का आरोप है। पुलिस ने एसटीएफ देहरादून के निर्देश पर एक महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दिया है।

हल्द्वानी कोतवाली प्रभारी हरेन्द्र चौधरी ने बताया कि एसटीएफ ने में बताया है कि मार्च 2022 में इंस्टाग्राम में एक अश्लील वीडियो अपलोड किया गया था जिसमें एक महिला ने किशोर के साथ पोर्न वीडियो बनाया वायरल किया था नेशनल साइबर क्राइम पोर्टल की जांच में सामने आया कि वीडियो उत्तराखड में बनाया और अपलोड किया गया है। एसटीएफ की जांच में पता चला कि वीडियो उत्तराखंड के हल्द्वानी क्षेत्र से एक महिला द्वारा बनाकर अपलोड किया गया है जिसके बाद हल्द्वानी कोतवाली में मुकदमा दर्ज हुआ है।नेशनल साइबर क्राइम पोर्टल की रिपोर्ट में महिला चाइल्ड पोर्नोग्राफी की आरोपी पाई गई है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:वन विकास निगम लालकुआं में बड़ा घोटाला ऑडिट रिपोर्ट आई सामने ,दो और कर्मचारी निलंबित

कोतवाली प्रभारी हरेंद्र चौधरी का कहना है कि पूरे मामले में जांच की जा रही है जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:कक्षा 8 के छात्रा से जंगल मे हैवानियत करने वाला दो बच्चों का पिता पंहुचा सलाखों के पीछे

चाइल्ड पोर्न भारतीय कानून के तहत सोशल मीडिया या वेबसाइट के कंटेंट को अपने लैपटॉप में सेव करना भी अपराध की श्रेणी में आता है यह भी आईटी कानून 2008 के अंतर्गत अपराध माना जाता है। सामान्य पोर्नोग्राफी देखना अपराध नहीं है लेकिन पॉर्नोग्राफी को शेयर करना अपराध की श्रेणी में आता है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:गौलापार ट्रेंचिंग ग्राउंड के सामने खड़े सभी ट्रकों और बुग्गी को तत्काल हटाने के RTO के निर्देश, होगी जप्ती की कार्रवाई-देखे आदेश


पोर्न फिल्में बनाना, अश्लील कंटेंट को शेयर करना और चाइल्ड पॉर्नोग्राफी देखना यह स आईटी कानून 2008 की धारा 67 (ए) और आईपीसी की धारा 292, 293, 294, 500, 506, 509 के तहत आता है। कानून के तहत 10 साल तक की सजा और जुर्माने का प्रावधान है।

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें