Health News: नेचुरल तरीकों से कोलेस्ट्रॉल लेवल कर सकते हैं कंट्रोल, बस अपनाएं ये 6 टिप्स

ख़बर शेयर करें

Cholesterol: कोलेस्ट्रॉल शरीर के लिए बहुत जरूरी होता है, जो हार्मोन्स बनाने और सैल वॉल्स को फ्लैक्सिबल रखने जैसे ज़रूरी कामों में मदद करता है. वहीं बॉडी में कोलेस्ट्रॉल ज्यादा बढ़ने पर ये हार्ट अटैक, किडनी फेलियर और स्ट्रोक जैसी बड़ी समस्याओं का खतरा बढ़ा सकता है. अनहेल्दी लाइफस्टाइल या कभी कभी जैनेटिक कारणों से ये समस्या पैदा हो सकती है। कोलेस्ट्रॉल लिपोप्रोटीन के साथ बॉडी में सर्कुलेट होते हैं.

एलडीएल कोलेस्ट्रॉल ब्लड वेसल्स में जमने से ब्लड सर्कुलेशन को रोककर सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है. इसीलिए ज़रूरी है कि बॉडी में कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल करने के लिए एचडीएल कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ाई जाए।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी के इस क्षेत्र में चला अतिक्रमण पर धामी सरकार का बुलडोजर ध्वस्त किए कई मकान-देखे-VIDEO

कोलेस्ट्रॉल एक तरीके का फैट है जो ज्यादा बढ़ जाने पर तरह तरह की परेशानियां पैदा करने लगता है. कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर हार्ट अटैक, स्ट्रोक, टाइप 2 डायबिटीज और अन्य बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल लेवल जान को जोखिम में डाल सकता है क्योंकि कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाने से सीधा-सीधा असर हार्ट पर पड़ता है, जिससे इंसान की मौत तक हो सकती है।


आइए कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने के कुछ नेचुरल तरीके जान लेते हैं.

खान पान सही रखें– कोलेस्ट्रॉल को सही रखने के लिए हेल्दी खान पान बहुत ज्यादा जरुरी है. ऐसे में ज्यादा पैकेज्ड स्नैक्स, डेयरी प्रोडक्ट्स, मांस आदि से दूर रहना चाहिए. इन सारी चीजों के सेवन से कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाता है इसलिए इन चीजों का सेवन कम करें.

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand News: बीजेपी ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, जानें- उत्तराखंड में किसे कहां से मिला टिकट,

नियमित एक्सरसाइज

हेल्थलाइन के अनुसार एक्सरसाइज करने से हमारी बॉडी फंक्शनिंग सुधरती है जिससे कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल होता है. हल्की फुल्की एक्सरसाइज भी हार्ट हेल्थ सुधार सकती है।

सॉल्यूबल फाइबर का सेवन

सेम, मटर, दाल, फल और दूसरे होल ग्रेंस सॉल्यूबल फाइबर के अच्छे सोर्स हैं. इनका सेवन प्रोबायोटिक गट बैक्टीरिया को पोषण देता है जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को बॉडी से बाहर निकालने में मदद करता है.

मोनोअनसैचुरेटेड फैट्स का सेवन

जैतून का तेल, कैनोला तेल, ट्री नट्स, और एवोकाडो जैसे मोनोअनसैचुरेटेड फैट्स का सेवन एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करता है,

यह भी पढ़ें 👉  Nainital News:(गजब) बगड़ गांव की लापता युवती को उठा ले गया गुलदार! वन विभाग ढूंढती रही जंगल में युवती युवक के साथ होटल से बरामद,हुआ हंगामा

पॉलीअनसैचुरेटेड फैट्स का सेवन
वैसे तो सभी पॉलीअनसेचुरेटेड फैट हेल्दी होते हैं पर ओमेगा-3 ऐसा पॉलीअनसेचुरेटेड फैट है जो हार्ट हेल्थ को भी मज़बूत करता है, जिससे पूरी बॉडी हेल्दी बनती है.

हेल्दी वेट

वजन कम करना मतलब कोलेस्ट्रॉल कम करना. वजन घटाने से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल कम होता है और बढ़ता है एचडीएल यानी अच्छा कोलेस्ट्रॉल.

ट्रांस फैट से दूरी बनाएं


ट्रांस फैट का हमारी बॉडी में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है, साथ ही एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करता है जिससे बॉडी का कोलेस्ट्रॉल लेवल बिगड़ जाता है

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें