हल्द्वानी:बच्चों का पेट पालने घर से निकला था कमाने,तीन दिन बाद शव की शिनाख्त

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी: सुशीला तिवारी अस्पताल मोर्चरी में तीन दिन से पड़े शव का आखिरकार शिनाख्त हो गया है. मृतक की पहचान उत्तर प्रदेश बरेली के भोजीपुरा नैमोर गांव निवासी 55 वर्षीय निरंजन सिंह के रूप में हुई है.
बताया जा रहा हैं कि मृतक की पत्नी की मौत के बाद अपना और अपने बच्चों के पेट पालने के लिए घर से कमाने रुद्रपुर आया था जहां उसकी सड़क हादसे में मौत हो गई.पुलिस ने शव को मोर्चरी में रखकर उसकी शिनाख्त के प्रयास शुरू किए थे तीन दिन में शिनाख्त होने पर पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है.


बताया जा रहा हैं कि बरेली के भोजीपुरा स्थित नैमोर गांव निवासी निरंजन सिंह (55) ऊधमसिंह नगर के रुद्रपुर में मजदूरी करता था तीन दिन अगला पहले पुलिस को निरंजन गंभीर रूप से घायल अवस्था में सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया था जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हुई हैं.

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand Crime:पत्नी के चरित्र पर पति करता था शक,पत्नी को काट डाला दराती से,नौ साल पहले हुई थी शादी,


पुलिस के काफी प्रयास के बाद उसकी शिनाख्त हुई मृतक के चचेरे भाई छत्रपाल सिंह ने बताया कि निरंजन की पत्नी की पहले ही मौत हो गई थी दो लड़कियां थीं और दोनों की शादी हो चुकी है घर में वह अकेले थे.पालन पोषण के लिए वह रुद्रपुर में मजदूरी करते थे. 25 जनवरी को बगवाड़ा में वह सड़क हादसे में घायल हो गए थे पुलिस की सूचना पर रविवार मोर्चरी पहुंच शव की शिनाख्त की.पुलिस शव के पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया हैं.

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand Cabinet: धामी मंत्रिमंडल कैबिनेट बैठक में इन 12 प्रस्तावों को मिली मंजूरी

अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें