UKSSSC PAPER LEAK CASE : STF ने एक और अपर निजी सचिव को किया गिरफ्तार -देखे अभी तक कौन-कौन लोग हो चुके हैं गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें

देहरादून: उत्तराखंड एसटीएफ की कार्रवाई जारी एक और अपर निजी सचिव गिरफ्तार। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने एक और बड़ी कार्रवाई की है एसटीएफ ने सचिवालय के एक और अपर निजी सचिव सूर्य प्रताप सिंह को गिरफ्तार किया है। इस मामले में अब तक दो अपर निजी सचिव समेत 16 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं तथा 83 लाख रुपये बरामद किए जा चुके हैं।

जानकारी के मुताबिक उत्तराखंड एसटीएफ ने शुक्रवार को अपर निजी सचिव सूर्य प्रताप न्याय विभाग को गिरफ्तार किया है। सचिवालय में नियुक्त सूर्य प्रताप निवासी ग्राम निवाड़ मंडी जसपुर जनपद उधम सिंह नगर जो वर्तमान में न्याय विभाग में अपर निजी सचिव के पद पर तैनात था। गिरफ्तारी के बाद अपर निजी सचिव सूर्य प्रताप को उत्तराखंड एसटीएफ ने कोर्ट में पेश किया है। बता दें कि मामले में अभी कई बड़ें खुलासे हो सकते है।

यह भी पढ़ें 👉  सिरफिरे युवक अपने मां सहित चार लोगों पर किया था चाकू से हमला, हमलावर सहित दो लोगों की हल्द्वानी में मौत

कई लोगों पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। सीएम और डीजीपी मामले में कड़ी और निष्पक्ष कार्रवाई की बात कह चुके है। साल चार और पांच दिसंबर को हुई भर्ती परीक्षा में 1.60 लाख युवा शामिल हुए, जिनमें से 916 चयनित हुए थे।

बताया जा रहा है कि उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की भर्ती में लीक पेपर से पास होने वाले 50 से ज्यादा युवाओं को एसटीएफ ने चिह्नित किया है। मुकदमे की चार्जशीट में 100 से ज्यादा आरोपी बनाए जा सकते हैं। कई नेताओं के भी शामिल होने की चर्चा है। उनके खिलाफ कड़ियां जोड़ी जा रही हैं। मामले में अब तक छः सरकारी कर्मचारियों के साथ कुल 16 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इस मामले में पेपर तैयार कराने वाली आउटसोर्स कंपनी के दो कर्मचारी भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें 👉  Nainital News:-डोली की जगह उठी अर्थी: रिसोर्ट में मेहंदी रस्म में नाचते-नाचते हुई दुल्हन की मौत, जाने घटना

रिपोर्टस की माने तो एसटीएफ जांच में पेपर लीक करने वालों के साथ पेपर खरीदकर परीक्षा देने वालों की अलग-अलग जांच कर रही है। यूकेएसएसएससी (UKSSSC) द्वारा 4 और 5 दिसंबर 2021 को स्नातक स्तरीय परीक्षा आयोजित की गई थी। इस परीक्षा के संपन्न होने के बाद परिणाम जारी हुआ। जिसके बाद बेरोजगार संगठनों एवं कई छात्रों ने सीएम से मिलकर उक्त परीक्षा में हुई अनियमितताओं की जांच के लिए ज्ञापन दिया। इस पूरे मामले में 22 जुलाई को मुकदमा दर्ज हुआ था।

आरोपित ने अभ्यर्थियों से 18-18 लाख में यूकेएसएससी लीक पेपर का सौदा किया था। तीन-तीन लाख रुपये परीक्षा से पूर्व और 15-15 लाख परीक्षा के बाद देने की बात तय हुई थी। यह लेनदेन सूर्य प्रताप के जसपुर स्थित आवास में हुआ। आरोपित के बैंक खाते की जांच चल रही है।

यह भी पढ़ें 👉  Dehradun News:तीन युवकों को मारी गोली, एक की मौत, ब्याज के लेनदेन को लेकर हुआ था विवाद-देखे-VIDEO

गिरफ्तार अभियुक्तों के नाम-

शूरवीर सिंह चौहान
कुलवीर सिंह (स्वामी डेल्टा कोचिंग सेन्टर करनपुर देहरादून)
मनोज जोशी पीआरडी (पीआरडी पूर्व कर्मचारी युके एसएससी रायपुर देहरादून)
गौरव नेगी
जयजीत दास (प्रोग्रामर, प्रिंटिंग प्रेस लखनऊ यूपी)
मनोज जोशी कनिष्ठ सहायक (कनिष्ठ सहायक सितारगंज न्यायालय ऊधमसिंहनगर)
अभिषेक वर्मा (कर्मचारी प्रिंटिंग प्रेस लखनऊ यूपी)
दीपक चौहान (मेडिकल यूनिवर्सिटी हे.न.ब. सेलाकुई में संविदा कर्मचारी)
भावेश जगूडी (मेडिकल यूनिवर्सिटी हे.न.ब. सेलाकुई में संविदा कर्मचारी)
दीपक शर्मा
अमरीष कुमार (उत्तराखण्ड पुलिस आरक्षी ऊधमसिंहनगर में नियुक्त)
महेन्द्र चौहान (कनिष्ठ सहायक नैनीताल न्यायालय में)
हिमांशु काण्डपाल (कनिष्ठ सहायक रामनगर न्यायालय में)
तुशार चौहान
गौरव चौहान (अपर निजी सचिव, सचिवालय उत्तराखण्ड)
16 सूर्य प्रताप सिंह (अपर निजी सचिव सचिवालय उत्तराखंड)

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें