15 साल की दुल्हन की मांग भर रहा था 32 साल का दूल्हा, मंडप में पहुंची पुलिस भाग खड़े हुए दूल्हा व बराती

ख़बर शेयर करें

पुलिस की तत्परता से एक 15 वर्षीय किशोरी बालिका वधू बनने से बच गई मामला उत्तर प्रदेश के वाराणसी का है जहां एक बार फिर से एक नाबालिग बच्ची बालिका वधू बनने से बच गई। हालांकि दूल्हा और बराती मंडप से भाग निकलने में सफल रहे। घटना चोलापुर के आयर बाजार क्षेत्र की है। जिला बाल संरक्षण इकाई की संरक्षण अधिकारी निरूपमा सिंह को बुधवार देर शाम सूचना मिली कि आयर बाजार क्षेत्र निवासी किशोरी की शादी होने जा रही है।

यूपी के वाराणसी में बारात लेकर पहुंचा दूल्हा अचानक दुल्हन को मंडप में छोड़कर भाग निकला। सात फेरों से पहले दूल्हा क्यों भागा ये किसी को भी समझ नहीं आ रहा था। दूल्हे के भागने के बाद शादी वाले घर में सन्नाटा सा पसर गया। दूल्हे की खोजबीन शुरू हो गई। लोगों को जब दूल्हे के भागने के पीछे की वजह पता चली तो सभी सन्न रह गए। दरसअल चोलापुर के आयर बाजार क्षेत्र में एक किशोरी ‘बालिक वधू बनने जा रही थी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी के इस क्षेत्र में चला अतिक्रमण पर धामी सरकार का बुलडोजर ध्वस्त किए कई मकान-देखे-VIDEO

बाल विवाह की सूचना पर पहुंची टीम को देखकर दूल्हा सकपका गया और मंडप से भाग निकला। मौका देख बराती भी चंपत हो गए।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:40 सब इंस्पेक्टरो का स्थानांतरण,चौकी इंचार्ज और थाना प्रभारी भी शामिल

करीब 32 साल के दूल्हे के साथ पांच-छह लोग भी राजस्थान से आए थे। सूचना पर निरूपमा सिंह ने तत्काल ही जिला प्रोबेशन अधिकारी सुधाकर शरण पांडेय से संपर्क साधा।

इसके बाद एक टीम गठित हुई जिसमें बाल संरक्षण इकाई के राजकुमार, रामकिशुन व चाइल्ड लाइन से आजाद एवं खुशबू को शामिल किया गया। साथ ही चोलापुर थाने पर फोन कर वहां पुलिस बल भेजने को कहा गया।

पुलिस के साथ टीम जब आयर बाजार क्षेत्र स्थित किशोरी के घर पहुंची तो वहां मंडप में विवाह की रस्में चल रही थीं। टीम के पहुंचने की भनक लगते ही दूल्हा और उसके साथ के लोग वहां से भाग निकले। परिजनों से पूछताछ की गई तो पता चला कि किशोरी की उम्र अभी महज 15 साल है। वह कक्षा पांच तक पढ़ी है।

यह भी पढ़ें 👉  BJP:भाजपा ने 200 सीटों पर तय किए उम्मीदवार, आज-कल में जारी हो सकती है पहली सूची, देखें पूरी खबर

वहां हुई पूछताछ के बाद किशोरी और उसके अभिभावकों को लेकर यह टीम बाल कल्याण समिति के चांदमारी स्थित कार्यालय पहुंची और उन्हें बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत कियामामले की सुनवाई की साथ ही बालिका के घर वालों को बाल विवाह न करने का शपथ पत्र देने को कहा।

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें