सावधान! बाजारों में धड़ल्ले से बिक रहे हैं नकली गुड़, ऐसे करें असली गुड़ की पहचान

ख़बर शेयर करें

ठंड के मौसम में गुड़ (Jaggery) की मांग ज्‍यादा होती है. इस बात का फायदा उठा कर बाजार में नकली गुड़ खूब बिक रहा है इसे सर्दी में इसलिए भी खाया जाता है क्‍योंकि इसकी तासीर गर्म रहती है, जो शरीर में गर्माहट को बनाए रखती है. इसलिए भी ठंड के दिनों में इसे खाने की सलाह दी जाती है. सर्दी के मौसम में तो कई लेाग शक्कर की जगह गुड़ का ही उपयोग करते हैं. इसका स्वाद तो अच्छा रहता ही है साथ ही इसमें आयरन और विटामिन सी पाया जाता है. जो आपकी सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है।

मीठा पसंद करने वाले व्यक्ति का मनपसंद चीज होता है। खासकर भारत के लोग गुड़ का उअपयोग अपने हर दिन के भोजन में जगह-जगह करते हैं। उत्तर भारत में गुड़ की रोटी या मक्की की रोटी के साथ गुड़ खाना लोग पसंद करते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand:बाजार में पहुंचा गजराज,लोगों में मची अफरा तफरी-देखे--VIDEO


चाहें बच्चे हो या बूढ़े हर किसी को गुड़ पसंद होता है और शायद आपको भी गुड़ खाना अच्छा लगता ही होगा? हमारे घर में भी गुड़ का उपयोग होता है जिसे कई प्रकार के खाना जैसे तिल के लड्डू, अचार, या सब्जियों के साथ इस्तेमाल किया जाता है। अगर सच बताएं तो गुड खाने का अपना एक अलग ही मज़ा होता है।

जैसे की हम आपको बता ही चुके कि सर्दी के महीने में गुड़ खाना सभी के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। सर्दियों के महीने में गुड़ खाने से शरीर तंदरुस्त रहता है और सर्दी खांसी और जुखाम नहीं हो पाता है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: पुलिस के सामने भिड़ीं सास-बहू, जीजा-साले में जमकर हुआ जूतमपैजार-जाने फिर क्या हुआ

गुड़ को उसके रंग से पहचानें

मार्केट में आने वाले ज्यादातर नकली गुड़ का रंग सफेद, हल्का पीला या फिर लाल होता है. इसके अलावा ये दिखने में ज्यादा चमकदार भी होते हैं. ऐसे में आप मार्केट से ऐसा गुड़ चुनें जिसका रंग ज्यादा भूरा हो साथ ही अगर कहीं आपको पीले रंग का या हल्के भूरे रंग का गुड़ मिले तो उसे हटा दें ऐसे गुड़ मिलावटी हो सकते हैं. गुड़ का रंग लाइट ब्राउन या सफेद हो तो यह इस बात की निशानी है कि गुड़ का रंग साफ करने के लिए उसमें कई प्रकार के केमिकल का इस्तेमाल किया गया है. ऐसे में इस तरह के रंग वाले गुड़ को खरीदने से बचना चाहिए. यह आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: लालकुआं इंडियन ऑयल डिपो से लगे झाड़ियां में लगी भीषण आग बड़ा हादसा होने से टला-देखे-VIDEO

मार्केट में मिलने वाला नकली गुड़ का रंग सफेद, हल्का पीला या कुछ लाल (चमकदार) होता है. जब आप नकली गुड़ को पानी में डालेंगे तो मिलावटी पदार्थ बर्तन के नीचे बैठ जाते हैं, जबकि शुद्ध गुड़ पूरी तरह से पानी में घुल जाता है.

गुड को गन्ने के रस या पाम के रस से बनाया जाता है। यह 20% इनवर्टेड शुगर, 50% सूक्रोज और 20% नमी और शेष प्रोटीन, लकड़ी राख आदि जैसे अघुलनशील पदार्थ से बना होता है। ज्यादातर अच्छा गुड़ – गहरा भूरा रंग, क्या सुनहरा भूरे रंग का होता है।

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें