Uttarakhand:गर्लफ्रेंड के खर्चे पूरे करने के लिए मुन्नाभाई बन गया MBBS का छात्र, पुलिस के सामने खोला राज

ख़बर शेयर करें

उत्तराखंड में एक ऐसा मामला सामने आया है जहां गर्लफ्रेंड के खर्चे पूरे करने के लिए एमबीबीएस का एक छात्र नीट की परीक्षा में अभ्यर्थी के स्थान पर परीक्षा देने पहुंच गया। शुरुआती पलों में ही वह बॉयोमीट्रिक हाजिरी में पकड़ा गया। आरोपी ने अभ्यर्थी से यह सौदा दो लाख रुपये में किया था। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी एमबीबीएस द्वितीय वर्ष का छात्र है।

पूछताछ में अभियुक्त देव प्रकाश पुत्र ओम प्रकाश निवासी: ग्रा0 गिरधर घोरा, पो0 चितलनाना, जिला संचोर, राजस्थान द्वारा बताया गया कि वह वर्तमान में राजकीय मेडीकल कॉलेज पाली में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष का छात्र है तथा वर्ष 2022 में उसके द्वारा नीट की परीक्षा पास की गई थी। सितम्बर 2022 में उत्तराखण्ड में ऋषिकेश, हरिद्वार तथा केदारनाथ घूमने के दौरान उसकी मुलाकात रूद्रपुर निवासी मयंक गौतम से हुई, जिससे बातचीत के दौरान उसके द्वारा बताया गया कि वह नीट की परीक्षा पास करना चाहता था, पर पढाई में कमजोर होने के कारण वह उसमें असफल रहा। इसके पश्चात अभियुक्त सोशल मीडिया के माध्यम से लगातार मयंक गौतम के सम्पर्क में रहा, मयंक गौतम द्वारा अभियुक्त को उसके स्थान पर नीट की परीक्षा पास करने तथा उसके एवज में 02 लाख रू0 देने का प्रलोभन दिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:गौलापार ट्रेंचिंग ग्राउंड के सामने खड़े सभी ट्रकों और बुग्गी को तत्काल हटाने के RTO के निर्देश, होगी जप्ती की कार्रवाई-देखे आदेश

चूंकि अभियुक्त की एक युवती से दोस्ती थी तथा पढाई के खर्चो के साथ-साथ उसके खर्चे वहन करने में उसे काफी कठिनाई हो रही थी, इसलिये अभियुक्त द्वारा प्रलोभन में आकर उक्त ऑफर को स्वीकार कर लिया।
योजना के अनुसार अभियुक्त द्वारा अपनी पासपोर्ट साइज फोटो को फेसबुक के माध्यम से मयंक गौतम को भेजा, जिसे मयंक गौतम द्वारा अपने परीक्षा फार्म में लगाया गया तथा अभियुक्त को नीट की परीक्षा का परीक्षा केन्द्र गुरू राम राय पब्लिक स्कूल राजा रोड में होने की जानकारी दी। दिनांक: 05-05-24 को अभियुक्त उसे भेजे गये प्रवेश पत्र को लेकर परीक्षा केन्द्र में परीक्षा देने पहुंचा पर बायोमैट्रिक मशीन से अभियुक्त के फिंगर प्रिंट का मयंक गौतम के आधार कार्ड से मिलान न होने पर पकड में आ गया

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:वन विकास निगम लालकुआं में बड़ा घोटाला ऑडिट रिपोर्ट आई सामने ,दो और कर्मचारी निलंबित

पुलिस ने बताया कि मयंक गौतम ने आरोपी देव प्रकाश को उसके स्थान पर नीट की परीक्षा पास करने तथा उसके एवज में 02 लाख रू0 देने का प्रलोभन दिया। पुलिस ने बताया कि चूंकि आरोपी देवप्रकाश की एक युवती से दोस्ती थी तथा पढाई के खर्चाे के साथ-साथ उसके खर्चे वहन करने में उसे काफी कठिनाई हो रही थी, इसलिये उसने प्रलोभन में आकर मयंक गौतम के ऑफर को स्वीकार कर लिया।

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें