Uttarakhand News: हल्द्वानी हिंसा में नहीं मारा गया बिहार का प्रकाश, कांस्टेबल की पत्नी से अवैध संबंधों के चलते हुए हत्या

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी:8 फरवरी को बिहार के रहने वाले प्रकाश का शव हल्द्वानी के बनफूलपुरा हिंसा प्रभावित इलाके में मिला था, उस समय प्रकाश की मौत को हिंसा से जोड़कर देखा जा रहा था लेकिन एक हल्द्वानी हिंसा के एक हफ्ते बाद मामला कुछ और ही निकला, मृतक प्रकाश की मौत दंगे में नहीं बल्कि उसकी हत्या की गई थी, हत्या में उत्तराखंड पुलिस का जवान समेत अन्य तीन लोग शामिल थे, इस पूरे मामले का एसएसपी नैनीताल ने आज खुलासा किया, प्रकाश की मौत दंगे में नहीं हुई थी उसकी हत्या चोरगलिया थाने में तैनात पुलिस के एक जवान और उसके अन्य तीन साथियों ने की थी

, बताया जा रहा है कि प्रकाश का पुलिस के जवान की पत्नी के साथ अवैध संबंध था जिससे वह ब्लैकमेल कर रहा था और पैसे की डिमांड भी कर रहा था, ऐसे में पुलिस के जवान ने दंगे की आड़ में प्रकाश को ठिकाने लगा दिया और उसके शव को हिंसा प्रभावित क्षेत्र बनभूलपुरा में लाकर छोड़ दिया, प्रकाश के सर पर तीन गोलियां लगी थी, प्रकाश को अवैध असलहे से गोली मारी गई थी, मृतक प्रकाश हल्द्वानी में दंगे वाले दिन हल्द्वानी पहुंचा और वह सितारगंज में किसी व्यक्ति के संपर्क में था, उस व्यक्ति ने हल्द्वानी में मृतक प्रकाश से मुलाक़ात की, उसके बाद प्रकाश तीन लोंगो के साथ गौलापार गया, जहाँ किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ और प्रकाश की हत्या कर दी गयी,

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: पति-पत्नी मिलकर करते थे चोरी,बनना चाहते थे जल्द करोड़पति- कारनामा जान हो जाएंगे हैरान-देखे-VIDEO

इस हत्याकांड में पुलिस का जवान, जवान की पत्नी, जवान का साला, साले के दोस्त शामिल हैं, अभी तक चार लोगों की गिरफ्तारी हो गई है, जबकि पुलिस जवान की पत्नी फरार है, पुलिस ने अवैध पिस्तौल को बरामद कर लिया है… पुलिस के जवान ने बड़ी ही चालाकी से हिंसा वाले दिन प्रकाश की हत्या की और उसके शव को हिंसा वाली जगह पर फेंक दिया ताकि किसी को शक ना हो, फिलहाल पुलिस ने सभी को गिरफ्तारी कर न्यायालय के समक्ष पेश कर दिया है और उन्हें जेल भेज दिया गया है

अभियुक्तगण*

1-कान्स० बीरेन्द्र सिंह पुत्र स्व० श्री रघुनाथ सिंह निवासी ग्राम आलावृद्धि पो०औ० नागवा नाथ थाना खटीमा जिला ऊधम सिंह नगर उम्र 36 वर्ष।

2- सूरज बाईन पुत्र श्री पवित्र बाईन निवासी शक्तिफार्म नं0-1, बैकुण्ठ नगर थाना सितारगंज जिला ऊधम सिंह नगर उम्र 28 वर्ष।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand: 55 प्रत्याशियों का भविष्य EVM में कम मतदान सियासी दलों की बढ़ाई चिंता किसको होगा नफा, कौन झेलेगा नुकसान-खास रिपोर्टर

3- प्रेम सिंह पुत्र स्व० श्री रविशंकर सिंह निवासी ढौराडाम थाना किच्छा जिला ऊधम सिंह नगर उम्र 30 वर्ष

4- नईम खान उर्फ बबलू पुत्र स्व० श्री नसीम खान निवासी इन्द्रानगर पश्चिमी वार्ड नं014 उजालानगर थाना बनभूलपुरा जनपद नैनीताल। उम्र 50 वर्ष।

5- प्रियंका पत्नी बीरेन्द्र नि० ग्राम आलावृद्धि पो०औ० नागवा नाथ थाना खटीमा जिला ऊधम सिंह नगर। (अभियुक्ता फरार है)
विवेचनात्मक कार्यवाही- उक्त मामले की जाँच के दौरान विवेचक द्वारा मृतक प्रकाश कुमार सिंह के मोबाईल आदि की जाँच की गयी एंव एसओजी व सर्विलांस की मदद ली गयी तो यह संज्ञान में आया कि उक्त मृतक युवक का सम्पर्क सितारगंज के किसी युवक से था तथा उत्तराखण्ड के अन्य नम्बर से भी वह वार्ता कर रहा था, जो दिनाँक 08.02.24 को हल्द्वानी पहुँचा। उक्त सम्पर्क में आये व्यक्तियों की जानकारी कर उनसे पूछताछ की गयी तो पता चला कि सूरज मृतक का लगभग दो ढाई साल से दोस्त था एंव मृतक प्रकाश कुमार सूरज के घर आता जाता रहता था। इसी दौरान प्रकाश कुमार सिंह के अवैध सम्बन्ध सूरज भी बहन व आरक्षी की पत्नी प्रियंका के साथ बन गये। तथा मृतक प्रकाश कुमार आरक्षी की पत्नी के साथ अवैध शारीरिक सम्बन्ध की वीडियो बनाकर उसे ब्लैकमेल कर पैसे की मांग करने लगा। प्रियंका ने यह बात अपने पति बीरेन्द्र से छुपा कर रखी लेकिन दिनाँक 07.02.24 को मृतक द्वारा उसके पति बीरेन्द्र को फोन किया गया जिसके बाद प्रियंका द्वारा पूरी बात अपने पति को बतायी गयी, तब बीरेन्द्र द्वारा अपनी पत्नी प्रियंका एवं अपने साथी नईम खान उर्फ बबलू के साथ मिलकर प्रकाश कुमार सिंह की हत्या करने की साजिश रची। मृतक उपरोक्त को आरक्षी बीरेन्द्र ने अपनी पत्नी के माध्यम से हल्द्वानी बुलवाया।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand Board: उत्तराखंड बोर्ड10th 12th रिजल्ट इस तारीख को होगा जारीऐसे चेक कर सकेंगे रिजल्ट

बीरेन्द्र ने प्रकाश कुमार से अपने मोबाईल से प्रियंका की वीडियो हटाने को कहा। लेकिन प्रकाश कुमार द्वारा मना करने पर आरक्षी बीरेन्द्र ने अपने साथियों के साथ मिलकर दिनांक: 08.02.2024 की शाम को प्रकाश की गोली मारकर हत्या कर दी। आज दिनाँक 15.02.24 को उपरोक्त अभियुक्त बीरेन्द्र व उसके साथियो को बाद पूछताछ जुर्म इकबाल के आधार पर धारा 302 भादवि में गिरफ्तार करते हुए अभियुक्त बीरेन्द्र की निशादेही पर हत्या में प्रयुक्त पिस्टल मय जिन्दा 04 कारतूस बरामदगी की गयी।

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें