उत्तराखंड: प्राइवेट स्कूलों की मनमानी पर शिकंजा, 256 में छापेमारी के बाद नोटिस जारी

ख़बर शेयर करें

उत्तराखंड में निजी स्कूलों की मनमानी इन दिनों खूब चल रही है जहां अभिभावकों से फीस और कॉपी किताब और ड्रेस खरीदने का नाम पर अभिभावकों के जेब पर डाका डाला जा रहा है अप्रैल में स्कूलों का नया शैक्षणिक सत्र शुरू होता है। अभिभावक बच्चे का एडमिशन किताबों और स्कूल ड्रेस खरीदने में व्यस्त रहते हैं।

हर बार की तरह इस बार भी स्कूल द्वारा किताबों और अन्य चीजों में मनमानी करने की बात सामने आई शिकायत महानिदेशक शिक्षा आईएएस बंशीधर तिवारी के समक्ष पहुंची तो उन्होंने तुरंत एक्शन लिया।उत्तराखंड के 256 निजी स्कूलों में छापे मारे गए हैं। इन स्कूलों में एनसीईआरटी के बजाय प्राइवेट प्रकाशकों की महंगी किताबें लगीं हैं।

यह भी पढ़ें 👉  पुण्यतिथि:उत्तराखंड की महान विभूति पं.गोविंद बल्लभ पंत की 7 मार्च को पुण्यतिथि, जगह-जगह होंगे कार्यक्रम:गोपाल सिंह रावत

छापे के दौरान हरिद्वार में छात्र-छात्राओं को 3400 रुपये में समस्त विषयों की डिजिटल पुस्तकें उपलब्ध कराई जा रही थीं।शिक्षा महानिदेशक बंशीधर तिवारी ने कहा कि क़ई निजी स्कूलों में सरकारी पाठ्यक्रम की पुस्तकें नहीं लगी हैं। इसी के साथ वे स्कूल मनमर्जी की फीस भी लें रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:मौत के बाद दुष्कर्म पीड़िता नाबालिग को मिला इंसाफ,आरोपी को मिला 20 साल की कारावास

जनकारी के मुताबिक,नैनीताल में 49, रुद्रप्रयाग में 10, बागेश्वर में नौ, देहरादून में 21, चमोली में 77, हरिद्वार में 37, अल्मोड़ा में 31, टिहरी में 11 और उत्तरकाशी में 11 स्कूलों में छापे मारे गए। नैनीताल के 21 और हरिद्वार के एक स्कूल को नोटिस दिया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:STH में फीस गबन का आया मामला, महिला कर्मी के घर में मिली रसीद बुक,7.5 लाख की हुई रिकवरी

शिक्षा महानिदेशक बंशीधर तिवारी ने साफ किया कि मनमानी करने वाले स्कूलों की एनओसी रद्द की जाएगी। वहीं महंगी किताबों के लिए दबाव बनाने की जिन स्कूलों के खिलाफ शिकायत सही मिली है, उन्हें नोटिस दिया जा रहा है।

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें