देहरादून-(गजब) कई दरोगाओं के सर्टिफिकेट ही फर्जी, कई और पर गिर सकती है गाज

ख़बर शेयर करें

देहरादून- 2015 में हुए दरोगा भर्ती घोटाले में नए तथ्य निकल कर सामने आ रहे हैं , सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक निलंबित किए गए 20 दरोगाओं में से कई की दसवीं और बारहवीं की मार्कशीट भी जाली होने के सबूत मिले हैं , मामले की तफ्तीश विजिलेंस विभाग कर रहा है वहीं 30 और दरोगाओं के गले पर भी प्रशासन की तलवार लटक रही है , एडीजी लॉ एंड ऑर्डर वी मुरुगेशन ने बताया कि मामले की तफ्तीश लगातार जारी है।

, समय के साथ नए साक्ष्य भी निकल कर सामने आ रहे हैं और प्रशासन साक्ष्यों के आधार पर उचित कार्यवाही कर रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में फंदे पर लटका मिला प्रेमी की लाश, प्रेमिका समान और मोबाइल समान लेकर फरार


2015-16 में हुए दारोगा भर्ती घोटाले में अभी और भी खुलासा हो सकते हैं कुमाऊं में तैनात दारोगाओं पर विजिलेंस जांच की सुई केंद्रित है. कम से कम 50 दारोगा विजिलेंस की जांच के दायरे में हैं. टॉपर दारोगाओं पर खास नजर है. दारोगाओं की भर्ती कांग्रेस कार्यकाल में हुई थी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में फंदे पर लटका मिला प्रेमी की लाश, प्रेमिका समान और मोबाइल समान लेकर फरार


सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बताया जा रहा है कि बिजनेस की एवं फिर बोलो जांच में सबूत मिलने पर ही 20 दरोगा के खिलाफ कार्रवाई की गई है। जांच रिपोर्ट फाइनल होने के बाद अब इनकी बर्खास्त की कार्रवाई भी तलवार लटकी हुई है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी निवासी फौजी हिमांशु दफौटी का शव बरामद,गौला में नहाने से डूबने से हुई थी मौत

अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें