Uttarakhand News:प्लम्बर के प्यार में बेवफा पत्नी ने उजाड़ी अपनी मांग की सिंदूर, फौजी पति की कराई हत्या

ख़बर शेयर करें

उतराखंड से एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है जहां बेवफा पत्नी पलंबर के प्यार में अपने ही मांग की सिंदूर को उजाड़ दिया. कोटद्वार कोर्ट ने पत्नी और प्रेमी को आजीवन कारावास और अर्थ दंड लगाया है। मामला कोर्टद्वार से है जहां वर्ष 2019 का बताया जा रहा है हत्याकांड से उसे समय पुलिस भी दंग रह गई थी। महिला ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति का मर्डर कर दिया।


पुलिस छानबीन में राज खुलने के बाद महिला और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। कोर्ट ने दोषी पाते महिला और उसके प्रेमी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। यह पूरा हैरतअंगेज मामला कोटद्वार में सामने आया था।प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या करने की दोषी पत्नी और उसके प्रेमी को एडीजे रीना नेगी की अदालत ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। एडीजीसी क्राइम ने बताया कि कोर्ट ने दोनों पर 10,000-10,000 का अर्थदंड भी लगाया है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:फैंसी नंबर की ऐसी दीवानगी,0005 नंबर के लिए खर्च किए चार लाख से अधिक, इतने में तो आ जाती दूसरी कार

जानकारी के अनुसार कोतवाली कोटद्वार पुलिस को 29 सितंबर 2019 को बेस अस्पताल कोटद्वार से सूचना मिली थी कि राम सिंह निवासी मानपुर कलालघाटी को मृत अवस्था में अस्पताल लाया गया है। सूचना पर अस्पताल पहुंची पुलिस को पता चला कि मृतक राम सिंह को उसकी पत्नी भूमा देवी मृत अवस्था में अस्पताल लेकर आयी थी।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand:पति के प्रेमिका से परेशान पत्नी ने ननद-देवरानी के साथ मिल कर दिया कांड

इस सम्बंध में जब भूमा देवी से पूछताछ की तो बताया कि सीढ़ियों से गिरने के कारण उसके पति की मृत्यु हुई है जबकि मृतक के शरीर पर कई जगह चोट के गंभीर निशान थे। मामला संदिग्ध प्रतीत होने पर घटनास्थल के आसपास जानकारी प्राप्त की गयी तो पुलिस को पता चला कि मृतकका पत्नी भूमा देवी का पड़ोस में ही रहने वाले प्लम्बर संतोष चौधरी के साथ अवैध संबंध हैं।

पुलिस ने भूमा देवी से सख्ताई से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसका पति अभी एक माह पूर्व ही आर्मी से रिटायर होकर आया है उसे संतोष के साथ अवैध संबंधों की जानकारी हो गयी थी। इस बात पर भूमा देवी और राम सिंह के बीच रोज झगड़ा होता था।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand:पति के प्रेमिका से परेशान पत्नी ने ननद-देवरानी के साथ मिल कर दिया कांड

जिस पर भूमा देवी और संतोष ने मृतक राम सिंह को रास्ते से हटाने की योजना बनाई। इसके तहत 27 सितंबर को मृतक राम सिंह अपने घर पर शराब के नशे में था तो भूमा देवी ने फोन करके संतोष को अपने घर बुलाया और राम सिंह को सीढ़ियों से धक्का देकर व ईंट से पीट-पीट कर हत्या कर दी।

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें