उत्तराखंड: रामनगर वन विभाग की सरकारी गाड़ी नदी में बही, मुश्किल में फंसी वनकर्मियों की जान-देखे-VIDEO

ख़बर शेयर करें

पहाड़ों पर हो रही बरसात के चलते नदी नाले खान पर है बिजनौर के बढ़ापुर कस्बे के निकट बहने वाली नकटा नदी में उत्तराखंड की पाखरो वन रेंज की गाड़ी बह गई। गाड़ी में सवार महिला वन रक्षक सहित चार वनकर्मियों ने गाड़ी से कूदकर बमुश्किल अपनी जान बचाई। घंटों चले रेस्क्यू के बाद जेसीबी और ट्रैक्टर व स्थानीय लोगों की मदद से गाड़ी को बाहर निकाला गया।


उत्तराखंड की पाखरो वन रेंज के चार वनकर्मी शनिवार को किसी कार्य से कोटद्वार जा रहे थे। पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही भारी वर्षा के चलते पाखरो-कोटद्वार मार्ग पर गांव स्नेह की कोलू नदी
का जलस्तर बढ़ने से मार्ग बंद हो गया। जिस कारण गाड़ी नदी पार नही हो सकी। तब सभी वनकर्मी गाड़ी लेकर बढ़ापुरपहुंचे। चालक ने गाड़ी को कस्बे के समीप नकटा नदी के रपटेपर निकाला।

यह भी पढ़ें 👉  करंट लगने से लाइनमैन की दर्दनाक मौत

वहां से चालक ने गाड़ी को नदी के रास्ते
निकालने का प्रयास किया तो गाड़ी नदी में फंस गई। तभी जलस्तर बढ़ गया और गाड़ी नदी के पानी में बहने लग गाड़ी में सवार वनकर्मियों में चीख पुकार मच गई किसी तरह चारों वनकर्मीयों ने गाड़ी से कूदकर अपनी जान बचाई। गाड़ी पानी के तेज बहाव में बहकर कुछ दूरी पर पहुंच कर एक टीले पर रुक गई।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:महिला के गले से चेन छीनकर चलती ट्रेन से कूदा चोर, अंधेरे का फायदा उठाकर भागा

नदी में गाड़ी बहने की सूचना पर लोगों की भीड़
जमा हो गई। वनकर्मियों ने ग्रामीणों से मदद मांगी। ग्रामीण की सूचना पर जेसीबी मौके पर पहुंची और घंटो की मशक्कत के बाद गाड़ी को नदी से बाहर निकाला गया। पाखरो वन
क्षेत्राधिकारी विकास रावत ने बताया कि चारों वनक ऐप पर पढ़ें कार्य से नगीना जा रहे थे। बढ़ापुर के पास गाड़ी गड्ढे में फिसल गई गाड़ी को निकालने के दौरान नदी का जल स्तर बढ़ने से गाडी पानी में बहने लगी थी। ग्रामीणों की मदद से गाडी को बाहर निकल गया सभी वनकर्मी सुरक्षित है.

अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें