Surya Grahan 2023: अमावस्या पर लग रहा है साल का पहला सूर्य ग्रहण,जाने सूतक काल लगेगा या नहीं?

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी:20 अप्रैल को विश्व में साल का पहला सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है.हिंदू पंचांग के मुताबिक वैशाख माह के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को पहला सूर्य ग्रहण लगेगा. ज्योतिष के अनुसार 20 अप्रैल सुबह 7 बजकर 4 मिनट से लेकर दोपहर 12 बजकर 29 मिनट तक सूर्य ग्रहण लगेगा लेकिन यह सूर्य ग्रहण को भारत में दिखाई नहीं देगा जिस कारण इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा.

सूतक काल का अर्थ होता है जिस समय ग्रहण लगता है. उसमें कोई भी धार्मिक,मांगलिक, या शुभ कार्य नहीं किया जाता है. धार्मिक मान्यता के अनुसार सूतक काल को अशुभ माना जाता है.

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand: 55 प्रत्याशियों का भविष्य EVM में कम मतदान सियासी दलों की बढ़ाई चिंता किसको होगा नफा, कौन झेलेगा नुकसान-खास रिपोर्टर


ज्योतिषाचार्य डॉ नवीन चंद्र जोशी के मुताबिक 20 अप्रैल को लगने वाला सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा जिसके चलते सूतक काल भारत में नहीं लगेगा लेकिन इस बार का लगने वाला सूर्य ग्रहण पश्चिमी देशों के लिए हानिकारक हो सकता है.


सूर्य ग्रहण प्रशांत महासागर, आस्ट्रेलिया, हिंद महासागर, पूर्वी एशिया और दक्षिण एशिया में देखा जा सकेगा. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सूर्य ग्रहण अशुभ घटना माना जाता है जिसका तमाम राशियों पर भी असर होता है. लेकिन विज्ञान इसे एक खगो‍लीय घटना मानता है. ज्योतिषाचार्य डॉ नवीन चंद्र जोशी के मुताबिक सूर्य ग्रहण पर प्रभाव और कुल प्रभाव देखने को मिलता है इस बार का सूर्य ग्रहण भारत में अदृश्य होने के चलते इसका भारत में कोई भी कुप्रभाव नहीं पड़ेगा लेकिन पश्चिमी देशों के लिए हानिकारक हो सकता है.

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand :आठ साल की बेटी को दी ऐसी यातनाएं, सुनकर खड़े हो जाएंगे रोंगटे; कत्ल की वजह भी बताई-देख -VIDEO

पश्चिमी देशों में जहां जहां सूर्यग्रहण देखा जाएगा वहां पर इसका कुप्रभाव भी देखा जा सकता है. कई प्रकार की बाधा उत्पन्न हो सकती है, रोगों में वृद्धि हो सकती है राजनीतिक उथल-पुथल के साथ-साथ सूर्य ग्रहण कई देशों में युद्ध और तनाव की स्थिति ला सकता है.

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: पति-पत्नी मिलकर करते थे चोरी,बनना चाहते थे जल्द करोड़पति- कारनामा जान हो जाएंगे हैरान-देखे-VIDEO


ग्रहण के प्रभाव से बचने के लिए ईश्वरी आराधना करें वैशाख माह भगवान विष्णु का महीना कहा जाता है ऐसे में भगवान विष्णु की आराधना करें इस दिन सूर्य ग्रहण के साथ-साथ अमस्या भी पड़ रहा है इसलिए इस दिन का महत्व और बढ़ जाता है इस दिन गंगा स्नान, दान, पूर्ण करने का विशेष महत्व रहेगा.

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें