Wine Sale Kumaon – दस महीनों में कुमाऊं के लोग गटक गए 700 सौ करोड़ से ज्यादा की शराब, इस जिले के लोग सबसे ज्यादा पियक्कड़

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी – कहा जाता है कि शराब पीना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है लेकिन उत्तराखंड में शराब का चलन कितना है आबकारी विभाग के आंकड़े से पता चल रहा है उत्तराखंड में शराब के कारोबार से सरकार को मोटा राजस्व मिलता है आबकारी विभाग की क्लोजिंग में अभी दो माह का समय शेष है लेकिन इन दस महीनो में ही कुमाऊं मंडल के 280 मदिरा की दुकानें से लोग कई सौ करोड़ों की शराब पी गए हैं।

वित्तीय वर्ष समाप्त होने वाला है जिसके तहत आबकारी विभाग निरंतर क्लोजिंग का कार्य तेज गति से चला रहा है आबकारी विभाग रिक्लोजिंग कार्य कराए जाने को लेकर पूरी तरह से मुस्तैद है. वित्तीय वर्ष 2022- 23 में आबकारी विभाग को कुमाऊँ मंडल से शराब से करीब 783 करोड रुपए का लक्ष्य मिला था जिसमें से विभाग द्वारा जनवरी माह तक करीब 701 करोड़ का लक्ष्य प्राप्त कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand :आठ साल की बेटी को दी ऐसी यातनाएं, सुनकर खड़े हो जाएंगे रोंगटे; कत्ल की वजह भी बताई-देख -VIDEO

आबकारी आयुक्त कुमाऊं मंडल केके कांडपाल ने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में करीब दो माह अभी बाकी है शराब की दुकानों से मिलने वाले राजस्व प्राप्ति के लिए विभाग द्वारा अभियान चलाकर शराब कारोबारियों से राजस्व वसूला जा रहा है.

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: रिलैक्स मूड में प्रत्याशी, कांग्रेस प्रत्याशी प्रकाश जोशी और भाजपा प्रत्याशी अजय भट्ट का जीत का अपना-अपना दावा-देखे-VIDEO

राजस्व जमा नहीं करने की स्थिति में कई दुकानों को निरस्त करने की भी कार्यवाही की गई है. उन्होंने बताया कि कुमाऊं मंडल में 280 मदिरा की दुकानें हैं जहां 138 अंग्रेजी जबकि 142 देसी शराब की दुकान है।इस

वित्तीय वर्ष में नैनीताल जिले के लिए 273 करोड 24 लाख, उधम सिंह नगर के लिए 148 करोड़, बागेश्वर के लिए और 40 करोड़ 51 लाख, पिथौरागढ़ के लिए 87 करोड 51 लाख, चंपावत के लिए 56 करोड़ 76 लाख, अल्मोड़ा के लिए 29 करोड़ 60 लाख का लक्ष्य रखा गया था। इस वित्तीय वर्ष में अभी भी 82 करोड़ 55 लाख का राजस्व बकाया है जिसे वसूलने के लिए अभियान तेज किया गया है. मार्च तक लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-चुनाव ड्यूटी से लौट रहे टीचर की सड़क हादसे में मौत, परिवार में कोहराम

उन्होंने बताया कि कई दुकानदारों द्वारा राजस्व जमा न किए जाने की स्थिति में उधम सिंह नगर में 15 दुकानों को कैंसिल करने की कार्यवाही की गई है अभी वित्तीय वर्ष समाप्त होने में दो माह का समय है इसी बीच होली का त्यौहार भी है इसमें यह टारगेट पूरा करने की उम्मीद है।

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें