Big breking:हल्द्वानी- वित्तीय अनियमित्ता व भ्रष्टाचार के मामले में इन अधिकारियों पर विजिलेंस ने दर्ज किया मुकदमा

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी- उत्तराखंड शासन द्वारा कॉर्बेट के भीतर वित्तीय अनियमितता व अवैध पातन के मामले में विजिलेंस जांच की अनुमति देने के पश्चात विजिलेंस हैडक्वाटर के निर्देश पर कुमाऊं विजिलेंस कार्यालय हल्द्वानी सेक्टर में एक विभाग के कई अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। जिसके बाद से ही बंद महकमे में हड़कंप मचा हुआ है।

विजिलेंस द्वारा तत्कालीन उपवन संरक्षक कालागढ़ किशन चंद व उक्त कार्य प्रक्रिया में सम्मिलित अधिकारियों/ कर्मचारियों ठेकेदार वह अन्य के विरुद्ध हल्द्वानी सेक्टर में मुकदमा दर्ज हुआ है। sp विजिलेंस प्रहलाद मीणा ने बताया कि शासन से प्राप्त अनुमति के क्रम में किशन चंद्र पर धारा 3ए, 3बी , वन संरक्षण अधिनियम 1980, भारतीय अधिनियम 1972 तथा धारा 13(1)(ए) भ्र्ष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 संशोधन अधिनियम 2018 के धारा 420/ 466/467 के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया है और जांच विजिलेंस अनिल मनराल को दी गई है। गौरतलब है कि इससे पहले इस मामले में 2 आईएफएस अधिकारी सस्पेंड हो चुके हैं. जबकि एक आईएफएस अधिकारी को मुख्यालय में अटैच किया गया था मामले में शासन की अनुमति के बाद विजिलेंस की तरफ से इस पर खुली जांच की गई थी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:सौरव राज ने अफसाना का गला घोटकर की थी हत्या पोस्टमार्टम से खुलासा, जाने लव स्टोरी की कहानी

. जांच होने के बाद विजिलेंस ने शासन से मुकदमा दर्ज करने की अनुमति मांगी थी. इस पर शासन की तरफ से अनुमति दे दी गई है. जिस पर अब विजिलेंस ने आई एफ एस अधिकारी किशन चंद पर मुकदमा दर्ज किया है. बताया जा रहा है कि जांच के दायरे में विभाग के कई अधिकारी भी आ सकते हैं।

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें