Uttarakhand:बाबा तरसेम सिंह हत्या कांड:5 सेकंड, 2 गोलियां और मर्डर… कत्ल की पूरी कहानी

ख़बर शेयर करें

उधमसिंह नगर में गुरुद्वारा श्री नानक साहिब डेरा कारसेवा के प्रमुख बाबा तरसेम सिंह की हत्या का मामला पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है. हालांकि पुलिस हमलावरों की पहचान किेए जाने का दावा कर रही है दिन दहाड़े जिस तरह से बेखौफ हमलावरों ने इस हत्याकांड को अंजाम दिया है, वो बेहद हैरान करने वाला है. और कानून व्यवस्था पर भी सवाल उठाता है.

28 मार्च को सुबह के 6 बजकर 15 मिनट का वक्त था. रोज़ाना की तरह डेरा कारसेवा के प्रमुख बाबा तरसेम सिंह अपने डेरे में एक कुर्सी पर बैठे आराम कर रहे थे. डेरे में दिन की शुरुआत हो रही थी. तभी दो लोग एक बाइक पर डेरे के अंदर आते हुए दिखाई देते हैं. आस-पास काम कर रहे लोगों की निगाह इन बाइक सवार पर पड़ती है, लेकिन किसी को भी अनहोनी का शक नहीं होता. मगर अगले ही पल जो कुछ होता है, उसे देख कर लोग दहल जाते हैं.

यह भी पढ़ें 👉  मेरी औकात ये है…कहते हुए दामाद ने ससुर को गोली मार की हत्या, पत्नी को विदा नहीं करने से था नाराज, देखें दिनदहाड़े हत्या का LIVE-VIDEO


बाबा तरसेम सिंह कुछ समझ पाते तब तक पीछे बैठे युवक ने एक गोली उनके सीने में दाग दी। बाबा लहूलुहान हालत में बचने के लिए भागे तभी बाइक मोड़कर उनके सामने लाकर हत्यारे ने दूसरी गोली दागी और फरार हो गए.नानकमत्ता में बाबा तरसेम सिंह की हत्या में शामिल शूटर पेशेवर माने जा रहे हैं। उन्होंने पूरी प्लानिंग से पहले रेकी कर डेरे की गतिविधियों को परखा और मौका ताककर पांच सेकेंड में बाबा पर दो गोलियां दागकर राइफल लहराते भाग गए.

यह भी पढ़ें 👉  दर्दनाक हादसा: आगे चल रहे ट्रक से टकराई तेज रफ्तार कार, दो बच्चों समेत 7 लोग जिंदा जले-देखे-VIDEO


बाबा जमीन पर गिरते हैं और फिर बाबा की कुर्सी के पीछे से बाइक घुमाकर बदमाश दूसरी गोली उन पर दागता है। इसके बाद बदमाश आराम से बाइक पर भाग जाते हैं। भागते समय उनकी बाइक के पीछे बैग बंधा हुआ दिखाई दे रहा है.

हत्याकांड मामले में पांच आरोपियों पर केस दर्ज किया गया है. आरोपियों में सरबजीत सिंह निवासी ग्राम मियाविंड जिला तरन तारण पंजाब, वारदात के वक्त बाइक पर पीछे बैठा अमरजीत सिंह उर्फ बिट्टू निवासी ग्राम सिहोरा बिलासपुर यूपी को मुख्य आरोपी बनाया गया है. उनकी उम्र करीब 40 साल बताई जा रही है.

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand:दर्दनाक हादसे ने छीन ली चार लोगो की जिंदगी, जा रहे थे मंदिर मौत के मुंह में समा गए

इसके अलावा संदेह के आधार पर गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी श्री नानकमत्ता साहिब के प्रधान हरबंस सिंह चुघ, प्रीतम सिंह संधू निवासी खेमपुर गदरपुर और जत्थेदार बाबा अनूप सिह को आरोपी बनाया गया है. पुलिस ने बाबा तरसेम सिंह की हत्या की साजिश के सिलसिले में 3-4 संदिग्धों को हिरासत में लिया है.

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें