बेल किसी और को.. जेल से रिहा हुआ कोई और, जेल में हुआ गजब का ‘खेल’

ख़बर शेयर करें

जेल कर्मचारियों पर लापरवाही का एक बार फिर से मामला सामने आया है बिहार के मुजफ्फरपुर से हैरान करने वाला मामला सामने आया है शहीद खुदीराम बोस केंद्रीय कारा का हैरतअंगेज कारनाम जान आप भी हैरान हो जाएंगे कोर्ट द्वारा जमानत किसी और को दी जाती है और जेल प्रशासन किसी और को रिहा कर दिया। मामला 20 नवंबर 2022 का बताया जा रहा है।

हालांकि मामले का खुलासा अब हुआ है।
जैसे ही इस घटना की जानकारी मीडिया में आई तो जेल प्रशासन के कारनामों की कलई खुल गई ऐसे में जेल प्रशासन की कार्रवाई पर सवाल खड़े हो रहे हैं

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:महिला के गले से चेन छीनकर चलती ट्रेन से कूदा चोर, अंधेरे का फायदा उठाकर भागा

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ये मामला पिछले साल 20 नवंबर 2022 का बताया जा रहा है यहां मुजफ्फरपुर जिले की कोर्ट ने मीनापुर थाना क्षेत्र के शंकर पट्टी के रहने वाले रामदेव सहनी के बेटे गुड्डू कुमार को जमानत दी थी जहां कोर्ट का आदेश लेकर उनके वकील के जरिए जेल प्रशासन को भेजा गया इसके बाद जेल प्रशासन ने अपनी प्रोसेस पूरी करने के बाद शहीद खुदीराम बोस सेंट्रल जेल में बंद दूसरे गुड्डू कुमार जोकि उसी गांव के रहने वाले रिहाई दे दी गई थी

यह भी पढ़ें 👉  करंट लगने से लाइनमैन की दर्दनाक मौत

मामले की सूचना पीड़ित गुड्डू के परिवार को पता चली तो उन्होंने जेल प्रशासन सवाल खड़ा कर दिया, जिसके बाद जेल प्रशासन हरकत में आया. इसके बाद गुड्डू के परिवार वालों ने जेल प्रशासन को पत्र लिखा, जिसके बाद जेल प्रशासन ने विभागीय जांच-पड़ताल शुरू कर दी है

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़, एक को लगी गोली, दूसरा फरार-देखे-VIDEO

जहां कोर्ट के आदेश मिलने के बाद बिना एड्रेस चेक किए दूसरे उसी नाम के युवक को छोड़ दिया गया जिसके बाद गृह विभाग के आदेश पर सहायक अधीक्षक को सस्पेंड कर दिया गया है आगे की कार्रवाई चल रही है।

अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें