Vande Bharat Train: वंदेभारत ट्रेन में वाशरूम जाना युवक को पड़ा भारी, 6000 की लगी चपत, आप भी हो जाए सावधान

ख़बर शेयर करें

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन में वॉशरूम करना एक युवक को भारी पड़ गया है मामला भोपाल रेलवे स्टेशन का है जहां सिंगरौली का रहने वाला अब्दुल कादिर वंदे भारत एक्सप्रेस में पेशाब करने चढ़ गया. वह जब तक पेशाब कर ट्रेन से उतरता उससे पहले ट्रेन चलने के लिए का दरवाजा लॉक हो गया उसे जैसे ही ट्रेन के चलने का अहसास हुआ तो वह ट्रेन से उतरने के लिए शौचालय से गेट की तरफ भागा लेकिन तब तक गेट लॉक हो चुके थे।
वंदे भारत एक्सप्रेस के गेट अपने आप लॉक होते हैं

इसलिए उन्हें खोला नहीं जा सकता। जब तक ट्रेन की गति कम थी तब तक वह ट्रेन में चल रहे टीटीई से ट्रेन को रोकने की मांग करते रहा लेकिन ट्रेन नहीं रोकी जा सकती थी बल्कि बिना टिकट चढ़ने पर टीटीई ने उस पर 1020 रुपये का जुर्माना लगा दिया। यहीं नहीं, जिस दूसरी ट्रेन से उसे जाना था वह अलग छूट गई और प्लेटफार्म पर इंतजार कर रहा उसका परिवार अलग परेशान हुआ।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:40 सब इंस्पेक्टरो का स्थानांतरण,चौकी इंचार्ज और थाना प्रभारी भी शामिल

तरह वह वंदे भारत एक्सप्रेस में उज्जैन पहुंच गया, क्योंकि यहीं पर इस ट्रेन का पहला ठहराव है। युवक को 1020 रुपये जुर्माना, 800 रुपये उज्जैन से भोपाल पहुंचने के लिए और छूटी हुई ट्रेन में बुक कराई टिकट के किराये को मिलाकर करीब छह हजार रुपये की चपत लगी। यह घटना 15 जुलाई को शाम की है

यह भी पढ़ें 👉  Nainital News:(गजब) बगड़ गांव की लापता युवती को उठा ले गया गुलदार! वन विभाग ढूंढती रही जंगल में युवती युवक के साथ होटल से बरामद,हुआ हंगामा


रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि रात नौ बजे सिंगरौली के लिए अब्दुल की ट्रेन थी। इसके पहले शाम करीब पांच बजे वह हैदराबाद से भोपाल स्टेशन पहुंचा था। वंदे भारत एक्सप्रेस में उसने जो वजह बताई उसके मुताबिक वह पेशाब करने के लिए चढ़ा था। भोपाल रेल मंडल के अधिकारियों का कहना है कि प्लेटफार्म पर खड़ी ट्रेन के अंदर पेशाब करना नियमों के खिलाफ है।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand News: बीजेपी ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, जानें- उत्तराखंड में किसे कहां से मिला टिकट,

रेलवे की ओर से यात्रियों को बार-बार सलाह दी जाती है कि जब ट्रेन खड़ी हो तो शौचालय का उपयोग न करें। तब भी वह ट्रेन में चढ़ गया था। ट्रेन आपात स्थिति में ही रोकी जा सकती है, लेकिन आपात स्थिति नहीं थी इसलिए नहीं रोकी गई। बल्कि ऐसे प्रकरण में जुर्माने का प्रविधान है, जो कि नियमों के तहत लगाया गया

Advertisements
अपने मोबाइल पर प्रगति टीवी से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

👉 अपने क्षेत्र की खबरों के लिए 8266010911 व्हाट्सएप नंबर को अपने ग्रुप में जोड़ें